Google Webmaster Tools Kya hai ? Puri Jankari in Hindi 2019

अगर आप Website Owner या Digital Market से जुड़े हुए हैं तो संभव है कि आपने Google Webmaster Tools शब्द के बारे में ज़रूर सुना होगा। Internet के Advance होने के साथ – साथ Digital Market भी काफी Advance हो चुका है। अब Blogging और Website का दौर भी काफी हद तक Advance हो कर पूरी तरह नए – नए Techniques से लैस हो चुका है।

google webmaster tools

Google Webmaster tools भी इसी से जुड़ा एक Feature है। Google Webmaster tools मौजूदा दौर में SEO के नजरिये से बहुत ही महत्वपूर्ण ज़रूरत बन चुका है। इस लेख में Google Webmaster Tool से ही जुड़ी महत्वपूर्ण बिंदुओ पर बात की गई है। Webmaster tool को बेहतर तरीके से समझने के लिए इस Article को Last तक पढ़ें। सबसे पहले जानते हैं कि Google Webmaster Tools क्या है?


Google Webmaster Tools क्या है? ( Google Webmaster Tools kya hai? )

Google Webmaster tools गूगल का ही एक Product हैं। इसे Google Webmaster Tools कहते हैं। इसे ही  Google Search Console के नाम से भी जाना जाता है। Google Search Console या Google Webmaster  Web Utilities  का एक Collection है। इस Tools का मुख्य उद्देश्य, इस tools की मदद से एक Website को बेहतर तरीके से संचालित करते हुए गूगल के अनुरूप यानी Google Friendly बनाना है।

2015 तक Google Webmaster Tools का नाम Google Search Console कर दिया गया था। नाम बदलने के साथ साथ इसे पिछले Version का Update कहा गया था। Update के बावजूद इसके अधिक्तर Function पहले ही Version पर आधारित है।


Google Webmaster tools के अंदर कई महत्वपूर्ण Applications हैं जिसकी मदद से आने वाले Search Traffic के बारे में जानकारी हासिल करना, Website के Crawl और Index के लिए Request करना, Crawl Error के बारे में जानकारी समेत कई अन्य तरह की सुविधाएं मौजूद हैं।


Google Webmaster tools के बारे में जानने के बाद ज़रूरी है कि यह जाना जाए कि आखिर
Google Webmaster tools का उपयोग क्यों करना चाहिए!

Google Webmaster tools क्यों Use करें?


Google Webmaster tools का सबसे बड़ा फ़ायदा यह है कि इससे यह सुनिश्चित होता है कि  आपका Website और Page, Crawled हैं तथा Google Indexing किया गया है।
Google Webmaster tools के बारे में आगे बढ़ने से पहले ये जान लें कि Crawling और Google Indexing क्या है?

Crawling और Indexing क्या है?

Google Crawling

SEO में Crawling वह प्रक्रिया है जिसके द्वारा Google आपके Website  Page से जानकारी इकट्ठा करता है। जब भी Google Boats जानकारों जुटाने के लिए आपके Website तक आता है तो वह आपके Website पर मौजूद दूसरे links को भी देखता है। इसी कारण है कि Website पर Site Maps बनाया जाता है। इससे फायदा यह है कि Site Map आपके Blog / Website के सभी links को एक साथ रखता है। जिस कारण Google Bots एक Website के बारे में एक ही जगह से अधिक जानकारी इकट्ठा कर सकता है।

Google Indexing

Google Indexing वह Process है जिसके अंतर्गत Crawling के बाद जानकारी के आधार पर उन Webpage को Google Search से जोड़ा जाता है।

किसी Webpage का Search Engine में शामिल किया जाना इस बात पर भी निर्भर करता है कि अपने आपने Webpage पर किस तरह का Meta Tag Use किया है।  अगर No-Index Meta Tag उसे किया है तो वह Page crawl नही होगा और वह Index यानी Google Search में शामिल नही किया जाएगा। इसलिए जरूरी है कि Index meta Tag Use किया जाए। बता दें की WordPress का Page By Default ही   Index Tag के साथ आता है।

इस जानकारी के बाद फिर से वापस आते हैं की आखिर क्यों Webmaster Tools का उपयोग करना चाहिए। जैसे कि ऊपर बताया गया है
Google Webmaster tools ही आपके Website का Crawling और Indexing सुनिश्चित करता है। इसी तरह इसका महत्वपूर्ण काम यह भी है कि यह एक Website पर उन कारणों ( Errors ) को भी ढूंढता है जिस कारण आपका Website या Webpage Google Search में शामिल नही किया जा रहा है।

इसके अलावा Webmaster Tools में Google Search Tools भी शामिल होता है जो इस बात की भी जानकारी देता है कि कौन सा Keywords Google में बेहतर Rank पर है। यह इसके बारे में एक Data Provide करता हैं। सात ही यह भी बताता है कि दिए गए Website के साथ कौन – कौन से Domain जुड़े हुए हैं।


Google Webmaster Tools कैसे उपयोग करें? ( How to Use Webmaster Tools ? )

Webmaster Tools Google द्वारा दिया जाने वाला एक Free Service है। इसे उपयोग करना भी आसान है। सबसे पहले ज़रूरी है कि आपका एक गूगल अकाउंट हो। इसे उपयोग करने के लिए गूगल के आधिकारिक Website पर जा कर Webmaster tools के Option पर जा कर क्लिक कर के Sign in कर लें। इसके बाद add a site पर जा कर Click करें। इसके बाद आपको कई अलग अलग Option दिखाई देंगे। जिसके द्वारा आपको अपने Website को Verify करने के लिए कहा जाएगा। इसके बाद आप बताएं अनुसार आगे के स्टेप्स को follow कर के Website को जोड़ लें।


Google Webmaster Tools के Features ( Features of Google Webmaster Tools )


Google Webmaster tools के कई अलग अलग  Features हैं। इसके कुछ खास Feature निम्नलिखित हैं।

1. Search Appearance


Google Webmaster Tools   का यह Search Appearance Tab कई ऐसे Sets of tools से लैस है जो कि आपके Website को इस तरह तैयार करने में आपकी मदद करता है  जिससे कि आपका Website Google Index में शामिल होता है यानी कि आपका Website Google Search Result में दिखने लगता है। इस Tootls के Data Highlighter की मदद से Google को आपके Website को और बेहतर तरीके से समझने में मदद करता है। Data Highlighter की मदद से google आपके Website की Data को समझते हुए इसे Google Result Page पर शामिल करता है।

2. HTML Improvement Tab

Google का यह Tools आपके Website के Content पर नज़र रखता हैं। अगर आपके Content में किसी प्रकार की समस्या आती है तो यह Tools आपको Alert कर देता है। इस Tools के मदद से Content Quality को Improve कर आप अपने Website का Rank भी बढ़ा सकते हैं।

3. Crawl

Crawling के बारे में इस Article में ही पहले बात की गई है। इसी से संबंधित एक tab आपको Webmaster में मिलता है। Crawl Tab आपके Website पर Crawling के समय आने वाली समस्या के बारे में बताता है। यह Crawl Errors से संबन्धित जानकारी के साथ साथ आपके Website पर मौजूद किसी तरह के Block Page के बारे में भी जानकारी देता है। इसके अलावा इस टैब के माध्यम से ही आपको Testing और Site Map को Google में Submit करने की सुविधा देता है। इसके अलावा robots. txt File को भी इसकी मदद से test कर सकते हैं।

Crawl के अंतर्गत ही Sitemap Submit करने की सुविधा मिलती है। Sitemap इसलिए भी ज़रूरी है क्यों कि जब भी Website पर किसी तरह का बदलाव जैसे कि किसी नए Link को जोड़ना या Remove किया जाता है तो इसकी जानकारी Google को देने के लिए Sitemap Submit करना होता है। इससे ये होता है कि Google को इससे Website पर होने वाले बदलाव की ठीक ठीक जानकारी मिलती है और वह इसी आधार पर आपके Website का Indexing करता है।

4. Google Index

Google Indexing के बारे मे ऊपर बताया गया है। इससे ही जुड़ा एक Tab Webmaster Tools में भी Google Index के नाम से दिखने को मिलता है।

इस Tools की मदद से आप ये देख सकते हैं कि आपके Website के कितने Page को Google Indexing में जगह मिली है। इसके अलावा आप इस Tools के माध्यम से यह भी देख सकते हैं Indexing की गई Webpage में किस तरह बदलाव होते हैं साथ ही कितने Webpage Indexing से Block किया गया है।

इसी के अंदर पाए जाने वाले Remove URLs Tab की मदद से आप अपने Website के किसी खास Page को Google Indexing यानी Search Engine से हटा सकते है। साथ ही आप यह भी देख सकते हैं कि आपका कौन सा Page अपने आप ही Google Search से हट गया है।

5. Search Traffic

यह Tools Webmaster के सबसे अधिक Use किए जाने वाले Tools में से एक है। SEO और Keyword Research में इस Tools का सबसे अधिक उपयोग किया जाता है। इस Tab के Search Analytics tab की मदद से आप यह पता लगा सकते हैं कि आपके Website के Visitors किस तरह की जानकारी Search करते हैं।

इसके अलावा इस Tools की मदद से आप यह भी पता कर सकते हैं कि आपके Website के किस Page पर सबसे अधिक Visitor आ रहे हैं तथा किस जगह से आपके Website पर आ रहे हैं। आप इससे यह भी पता कर सकते हैं कि आपके Website पर आने वाले लोग ज़्यादा किस Device का उपयोग करते हैं।

6. Google Submit URL Tool

अगर आप Sitemap Submit नहीं करना चाह रहे हैं तो आप एक Article को भी सीधे इस Tools की मदद से Submit कर सकते हैं। हालांकि यह Tool Google Webmaster के साथ नही आता है। इसे आप Google के आधिकारिक Website से जा कर Submit कर सकते हैं।

Google Webmaster Tools के अलावा एक अन्य Search Engine, Bing भी अपने Users को ध्यान में रखते हुए इसी तरह का एक Tools Provide करता है। उसे Bing Webmaster Tools कहते हैं। Bing Webmaster Tools की मदद से भी आप अपने Website को Bing Index में शामिल कर सकते हैं। यह Tools भी SEO के लिए बेहतर है।

इस Article के पढ़ने के बाद आशा है कि आपको Webmaster Tools से जुड़ी खास बातें समझ आ गयी होगी। अगर इससे संबन्धित आपके पास कोई सवाल या सुझाव है तो Comment Box में ज़रूर बताएं।

हमारे साथ जुड़े रहने के लिए हमारे Social Media ( Facebook , Twitter , Google Plus ) को Like और Follow कर सकते हैं ।

One Response

  1. Ashutosh singh January 26, 2019

Add Comment

error: Content is protected don\\\\\\\'t copy !!